ED की बड़ी कार्रवाई: वीवो इंडिया मोबाइल कंपनी के चार एग्जीक्यूटिव व लावा इंटरनेशनल के संस्थापक अरेस्ट

 

नई दिल्ली. मनी लॉन्ड्रिंग केस में ईडी ने बड़ी कार्रवाई की है. ईडी ने चीनी मोबाइल मैन्युफैक्चरर कंपनी वीवो के चार एक्जीक्यूटिव्स को अरेस्ट किया है. वीवो इंडिया के चार एक्जीक्यूटिव्स में एक चीनी नागरिक भी शामिल है. प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने बताया कि यह कार्रवाई, कंपनी के खिलाफ चल रही मनी लॉन्ड्रिंग केस के सिलसिले में किया गया है. ईडी ने लावा इंटरनेशनल के संस्थापक हरिओम राय को भी अरेस्ट किया है, लेकिन ईडी ने उनको स्पेसिफिक किस केस में अरेस्ट किया है यह साफ नहीं हो सका है.

प्रवर्तन निदेशालय की यह कार्रवाई पिछले साल उसके रेड और इन्वेस्टिगेशन का हिस्सा है. ईडी ने 48 जगहों पर 3 फरवरी 2022 को मनी लॉन्ड्रिंग केस में रेड किया था. दिल्ली पुलिस के एफआईआर के बाद यह कार्रवाई शुरू हुई. ईडी की रेड वीवो मोबाइल कंपनी और उसकी 23 एसोसिएट कंपनियों के ठिकानों पर की गई. इसमें ग्रैंड प्रॉस्पेक्ट इंटरनेशनल कम्युनिकेशन भी शामिल रहा.

वीवो ने 1.25 लाख करोड़ रुपये अवैध रूप से किया ट्रांसफर

दरअसल, जीपीआईसीपीएल के खिलाफ कॉरपोरेट अफेयर्स मिनिस्ट्री ने फ्रॉड, चीटिंग और क्रिमिनल कांस्पिरेसी का केस दर्ज कराया था. ईडी का आरोप है कि कई कंपनियां भारत में रजिस्टर्ड कराई गई है, जो फंड्स को चीन ट्रांसफर करते हैं. इन कंपनियों ने गलत तरीके से यहां से पैसा चीन को भेजा है. ईडी जांच में पता चला कि भारत में टैक्स चोरी करते हुए वीवो मोबाइल इंडिया ने अपने सेल का आधा से अधिक हिस्सा अवैध ढंग से चीन को ट्रांसफर किया. वीवो इंडिया ने 1.25 लाख करोड़ रुपये चीन को अवैध ढंग से ट्रांसफर किया है.

Post a Comment

Previous Post Next Post

Travel